Best gulzar Shayari

Best gulzar Shayari in Hindi /गुलजार साहब की बेस्ट शायरी हिन्दी में

Best gulzar Shayari

कुदरत का कहर भी जरूरी है साहब
हर कोई खुद को खुदा समझने लगा था

Kudarat ka kahar bhee jarooree hai saahab
Har koee khud ko khuda samajhane laga tha

 

बहुत दिनों से कोई नया जख्म नहीं मिला
जरा पता तो करो की ये अपने है कहां

Bahut dinon se koee naya jakhm nahin mila
Jara pata to karo kee ye apane hai kahaan

Best gulzar Shayari

 

सब्र के कुछ घूंट इतने कड़वे होते हैं
कि जिंदगी की मिठास छीन लेते हैं

Sabr ke kuchh ghoont itane kadave hote hain
Ki jindagee kee mithaas chheen lete hain

 

कभी मतलब के लिए
तो कभी बस दिल्लगी के लिए
हर कोई मोहब्बत ढूंढ रहा है
यहां अपनी जिंदगी के लिए

Kabhee matalab ke lie
To kabhee bas dillagee ke lie
Har koee mohabbat dhoondh raha hai
Yahaan apanee jindagee ke lie

 

लापरवाह बने रहो वही ठीक है
परवाह करने लगे तो ठग लेते हैं लोग

Laaparavaah bane raho vahee theek hai
Paravaah karane lage to thag lete hain log

Best gulzar Shayari

 

Best gulzar Shayari

अगर सोचो तो तुम बिल्कुल अकेले हो
और अगर ठीक से सोचो तो यही हकीकत है

Agar socho to tum bilkul akele ho
Aur agar theek se socho to yahee hakeekat hai

 

झूठी कसमें खाने से कोई मरा नहीं करता
मगर किसी का भरोसा जरूर मर जाता है

Jhoothee kasamen khaane se koee mara nahin karata
Magar kisee ka bharosa jaroor mar jaata hai

Best gulzar Shayari

भरोसा तोड़ने वाले के लिए यह सजा काफी है
कि उन्हें जिंदगी भर की खामोशी तोहफे में दे दी जाए

Bharosa todane vaale ke lie yah saja kaaphee hai
Ki unhen jindagee bhar kee khaamoshee tohaphe mein de dee jae

 

मौजों से खेलना तो समंदर का शौक है
आती है कितनी चोट किनारों से पूछो

Maujon se khelana to samandar ka shauk hai
Aatee hai kitanee chot kinaaron se poochho

 

टूटी हुई चीजें चुभती बहुत है
फिर चाहे वह कांच हो या रिश्ते

Tootee huee cheejen chubhatee bahut hai
Phir chaahe vah kaanch ho ya rishte

Best gulzar Shayari

यहां मजबूत से मजबूत लोहा टूट जाता है
कही झूठे हो जाएं तो सच टूट जाता है

Yahaan majaboot se majaboot loha toot jaata hai
Kahee jhoothe ho jaen to sach toot jaata hai

गुलजार साहब की बेस्ट शायरी

बारिश सभी के लिए खुशियां नहीं लाती
लोग अपना मिट्टी का घर बचाने मैं लग जाते हैं

Baarish sabhee ke lie khushiyaan nahin laatee
Log apana mittee ka ghar bachaane main lag jaate hain

Best gulzar Shayari

जब वक्त बदलने लगे तो समझ लेना कि
अब कुछ अपने भी रास्ते बदलने वाले हैं

Jab vakt badalane lage to samajh lena ki
Ab kuchh apane bhee raaste badalane vaale hain

 

नजरे सब बता देती है
हसरतें भी और नफरते भी

Najare sab bata detee hai
Hasaraten bhee aur napharate bhee

 

कुछ रिश्ते उम्र कैद की तरह होते हैं
जमानत देकर भी रिहाई नहीं मिलती

Kuchh rishte umr kaid kee tarah hote hain
Jamaanat dekar bhee rihaee nahin milatee

Best gulzar Shayari

Post Author: Apna Quots

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *